Saturday, November 24, 2018

दुनिया में सबसे कम छुट्टियां लेते हैं भारतीय, काम का बोझ है सबसे बड़ा कारण, जानिए इसके बारे में पूरी जानकरी,!

दुनिया में सबसे कम छुट्टियां लेते हैं भारतीय, काम का बोझ है सबसे बड़ा कारण, पूरी पढ़िए !

नई दिल्ली। जहां दुनियाभर के लोगों के लिए भारत एक प्रमुख हॉलीडे डेस्टीनेशन है, लेकिन खुद भारतीय ही अपने काम के बीच छुट्टियां नहीं ले पाते। इसका खुलासा हाल ही में हुए एक सर्वे में हुआ है। एक्सपीडिया वैकेशन डेप्रीवेशन सर्वे में खुलासा हुआ है कि पूरी दुनिया में भारतीय सबसे छुट्टियां लेते हैं। 75 फीसदी भारतीयों का कहना है कि वो घूमने नहीं जाते। ये सर्वे 19 देशों में किया गया, वहीं भारत में इसका खास विश्लेषण किया गया है कि क्यों भारतीय कम छुट्टियां लेते हैं और ऐसा करने के पीछे काम का बोझ या अन्य कोई कारण है।
75 फीसदी भारतीयों ने माना, नहीं लेते छुट्टियां
एक्सपीडिया वैकेशन डेप्रीवेशन सर्वे ने 19 देशों में सर्वे कर पता लगाया कि कौन से देश कम से कम छुट्टियां लेकर घूमने जाते हैं। इसमें भारत पहले नंबर पर हैं, जहां 75 फीसदी लोगों ने कहा कि वो छुट्टियां नहीं लेते। वहीं 41 फीसदी भारतीयों ने माना कि वो घूमने जाना चाहते हैं, लेकिन काम के बोझ के चलते पिछले 6 महीनों से कहीं घूमने नहीं गए। 17 फीसदी भारतीयों ने पिछले एक साल में कोई भी छुट्टी नहीं ली है। केवल 3 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वो हर महीने घूमने जाते हैं।
ऑफिस का काम या कम स्टाफ है बड़ा कारण


53 फीसदी भारतीयों ने कहा कि वो मिल रही छुट्टियों में से भी कम छुट्टियां लेते हैं, वहीं 35 प्रतिशत भारतीयों ने कहा कि ऑफिस में काम के चलते या कम स्टाफ होने के चलते वो छुट्टियां नहीं ले पाते। इस साल 68 फीसदी लोगों ने काम के चलते अपने छुट्टियों के प्लान को आगे बढ़ा दिया। 19 प्रतिशत लोगों को लगता है कि छुट्टियां लेने से वो काम के प्रति कम गंभीर दिखेंगे, 25 फीसदी ने माना कि छुट्टियां लेने से वो किसी महत्वपूर्ण निर्णय में शामिल नहीं हो पाएंगे, 18 फीसदी को लगता है कि सफल लोग छुट्टियों पर नहीं जाते।
दक्षिण कोरिया दूसरे और हांगकांग तीसरे नंबर पर


एक्सपीडिया की इस लिस्ट में भारत के बाद दक्षिण कोरिया दूसरे और हांगकांग तीसरे नंबर पर है। दक्षिण कोरिया में 72 प्रतिशत लोग और हांगकांग में 69 प्रतिशत लोग छुट्टियां लेकर घूमने नहीं जा पाते। भारतीय अपनी सभी छुट्टियां न ले पाने के मामले में भी पांचवे नंबर पर हैं। एक्सपीडिया इंडिया के मार्केटिंग हेड मनमीत अहलूवालिया ने कहा कि भारतीयों के कम छुट्टियां लेने के पीछे एक कारण ये भी सामने निकलकर आया कि वो फ्री होकर अपनी छुट्टियां इंज्वॉय नहीं कर पाते।
यूरोपीय देशों के हालात हमसे काफी बेहतर


छुट्टियों के दौरान उनसे अपने सहकर्मी या सुपरवाइजर के लिए मौजूद रहने की उम्मीद की जाती है। रिपोर्ट के अनुसार 34 फीसदी भारतीय दिन में कम से कम एक बार अपना मेल जरूर चेक करते हैं। जहां 75 फीसदी भारतीयों ने कहा कि वो छुट्टियां नहीं ले पाते, वहीं दूसरी ओर स्पेन में रहने वाले 64 फीसदी लोगों ने कहा कि उन्होंने साल में 21 से 30 दिन की छुट्टी ली है। वहीं यूनाइटेड किंग्डम के भी आधे लोगों ने माना कि उन्होंने छुट्टियां ली हैं। वर्क-लाइफ बैलेंस के मामले में भी भारत के हालात अच्छे नहीं हैं।(Source & Credit https://m.dailyhunt.in/ visit for more)   www.bhartipeople.com

(' यह भि पढ़े; आविष्कार में जुटा Google, पत्रकारों की तरह खबर लिखते दिखेंगे सॉफ्टवेयर,पूरी जानकारी पढ़िए..')

अधिक जानकरी के लिए यंहा विजिट करे; HOME, यंहा पर आपको पूरी जानकारी मिलेगी जिसे आपको नौकरी से सम्बंधित और दिन भर की सबसे बड़ी ख़बर के लिए, BHARTI PEOPLE कोअभी तुरंत FOLLOW करे;
Thank YOU visit again..

1 comment:

  1. Nice information... Good job keep it up... Thanks for sharing. Biography

    ReplyDelete

अग्निपथ योजना में नौकरी एयरफोर्स(Air Force) में आवेदन करने के लिए यंहा पढ़े पूरी जानकारी और Apply करे |

 Air Force Agneepath Recruitment 2022 – Apply Online for Agniveer Vacancy Information: Air Force Agneepath has published notification for th...