Tuesday, October 30, 2018

अयोध्या मामले की सुनवाई, के बाद योगी आदित्यनाथ ने दिया ये जवाब, सब ददेखते रह गए..

अयोध्या मामले की सुनवाई टलने के बाद| हंसकर दिया कुछ एशा जवाब, जरा आप भि सुनिए|

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई टलने के बाद योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान, कही यह बात.... 

अयोध्या मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक टलने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बड़ा बयान दिया है.
लखनऊ : अयोध्या मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक टलने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बड़ा बयान दिया है. यूपी के सीएम ने कहा कि न्याय में देरी से लोगों को निराशा होती है, लेकिन कोई न कोई रास्ता अवश्य निकलेगा. सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए योगी ने कहा, 'देश की न्यायपालिका के प्रति सबका सम्मान है और हम भी उन संवैधानिक बाध्यताओं से बंधे हुए हैं. स्वाभाविक रूप से अगर न्याय में देरी होती है तो लोगों को निराशा होती है.'
उन्होंने कहा,  'इस समस्या के समाधान के लिए हम लोग व्यापक विचार-विमर्श कर रहे हैं और कोई न कोई रास्ता अवश्य निकलेगा. मेरा ये विश्वास है.' इस सवाल पर कि क्या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री होने के नाते आप भी प्रस्ताव रखेंगे कि अध्यादेश लाना एक रास्ता है जिस पर विचार करना चाहिए, योगी ने कहा, 'देखिये अब ये मामला माननीय उच्चतम न्यायालय में है, लेकिन देश की शांति और सौहार्द्र के लिए व्यापक आस्था का सम्मान करने के लिए जो भी विकल्प हो सकते हैं, उन सब विकल्पों पर विचार होना चाहिए.' उन्होंने कहा, 'अच्छा होता कि न्यायालय इस मामले की जल्दी सुनवाई करके देश के व्यापक सौहार्द्र और शांति के लिए इस मामले में जल्दी फैसला कर देता, लेकिन मुझे लगता है कि अभी फिलहाल इस तरह की संभावनाएं नहीं दिखती है.'
उधर, हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद की जल्द सुनवाई करने की मांग को नकार देने के लिए सुप्रीम कोर्ट पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि न्यायालय मुंबई आतंकी हमले के दोषी याकूब मेमन की फांसी को टालने के अनुरोध पर देर रात भी सुनवाई कर सकता है. विज ने ट्वीट कर इस वाक्य को दो बार लिखा, 'सुप्रीम कोट महान है.' उन्होंने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट महान है. चाहे तो 29 जुलाई 2014 को 1993 मुंबई बम धमाकों के दोषी याकूब मेनन की फांसी की सजा टालने के लिए कोर्ट का दरवाजा रात को खोल दे और चाहे तो राम मंदिर जिसके लिए करोड़ों भारतवासी टकटकी लगाए इंतजार कर रहे हों, उसको तारीख दे दे-सुप्रीम कोर्ट महान है.'


बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 30 जुलाई 2015 को याकूब मेमन मामले की सुनवाई देर रात में की थी. अंबाला में मीडिया से बात करते हुए भी विज ने इसी प्रकार की टिप्पणी की. उन्होंने कहा, 'यह याकूब मेमन मामले की सुनवाई के लिए मध्य रात्रि तक जागा रह सकता है तथा यह राम जन्मभूमि मालिकाना हक मामले की सुनवाई को तीन माह के लिए टाल सकता है, जबकि करोड़ों लोग इसकी प्रतीक्षा कर रहे हैं.'

उन्होंने कहा कि देश के हर हिस्से के लोग चाहते हैं कि केन्द्र सरकार एक अध्यादेश लाए, ताकि अयोध्या में जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण हो सके. विज अपने विवादास्पद बयानों को लेकर जाने जाते हैं. इससे पूर्व उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तुलना घातक निपाह वायरस से की थी. उन्होंने लोगों को चेतावनी भी दी थी कि जो लोग गौमांस के बिना नहीं रह सकते, वे हरियाणा में प्रवेश ना करें. 



अधिक जानकारी के लिए यंहा विजिट करे please Click Here फॉर more.. https://khabar.ndtv.com/  अपडेट and credit goes to ndtv khabar special Thanks for.. Thank You. www.bhartipeople.com

No comments:

Post a Comment

Sarkari Naukri 2020: 10वीं पास से लेकर डिग्री धारकों तक के लिए सरकारी नौकरियां, पढ़े पूरी जानकारी और तुरंत करें अप्लाई

 Sarkari Naukri 2020: 10वीं पास से लेकर डिग्री धारकों तक के लिए सरकारी नौकरियां, तुरंत करें अप्लाई  Sarkari Naukri 2020 LIVE : सरकारी नौकरी ...